Special Deals

Fiction » Literary collections

You're viewing books that have coupons you can use to get special deals. View all books in this category.
Sub-categories: American / General | Russian & Former Soviet Union | Australian & Oceanian | Female authors | European / English, Irish, Scottish, Welsh | African | Asian / General | Caribbean & Latin American | European / Scandinavian | Canadian | European / Eastern Russian & Former Soviet Union | Gay & lesbian | All sub-categories >>
Human Detritus
Price: $1.99 USD. (Free until Jan. 29!) Words: 26,290. Language: English. Published: November 2, 2014. Categories: Fiction » Literary collections » Female authors, Fiction » Literature » Literary
HUMAN DETRITUS is a collection of nine short works about the kind of people we’ve all encountered: a victim. A teacher. A dysfunctional family. A slut and a factory worker. Told with caustic anger and sardonic humor, these are stories of human debris left behind by some and absorbed by others.
Srikanta (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 227,470. Language: Hindi. Published: June 26, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
मेरी सारी जिन्दगी घूमने में ही बीती है। इस घुमक्कड़ जीवन के तीसरे पहर में खड़े होकर, उसके एक अध्याापक को सुनाते हुए, आज मुझे न जाने कितनी बातें याद आ रही हैं। यों घूमते-फिरते ही तो मैं बच्चे से बूढ़ा हुआ हूँ। अपने-पराए सभी के मुँह से अपने सम्बन्ध में केवल 'छि:-छि:' सुनते-सुनते मैं अपनी जिन्दगी को एक बड़ी भारी 'छि:-छि:' के सिवाय और कुछ भी नहीं समझ सका।
Path Ke Davedar (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 80,560. Language: Hindi. Published: June 26, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
अपूर्व के मित्र मजाक करते, ''तुमने एम. एस-सी. पास कर लिया, लेकिन तुम्हारे सिर पर इतनी लम्बी चोटी है। क्या चोटी के द्वारा दिमाग में बिजली की तरंगें आती जाती रहती हैं?'' अपूर्व उत्तर देता, ''एम. एस-सी. की किताबों में चोटी के विरुध्द तो कुछ लिखा नहीं मिलता। फिर बिजली की तरंगों के संचार के इतिहास का तो अभी आरम्भ ही नहीं हुआ है। विश्वास न हो तो एम. एस-सी. पढ़ने वालों से पूछकर देख लो।''
Dehati Samaj (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 44,190. Language: Hindi. Published: June 26, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
बाबू वेणी घोषाल ने मुखर्जी बाबू के घर में पैर रखा ही था कि उन्हें एक स्त्री दीख पड़ी, पूजा में निमग्न। उसकी आयु थी, यही आधी के करीब। वेणी बाबू ने उन्हें देखते ही विस्मय से कहा, 'मौसी, आप हैं! और रमा किधर है?' मौसी ने पूजा में बैठे ही बैठे रसोईघर की ओर संकेत कर दिया। वेणी बाबू ने रसोईघर के पास आ कर रमा से प्रश्‍न किया - 'तुमने निश्‍चय किया या नहीं, यदि नहीं तो कब करोगी?' रमा रसोई में व्यस्त थी।
Anupama Ka Prem (Hindi)
Price: $0.99 USD. (Free until Feb. 28!) Words: 2,950. Language: Hindi. Published: June 27, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
ग्यारह वर्ष की आयु से ही अनुपमा उपन्यास पढ़-पढ़कर मष्तिष्क को एकदम बिगाड़ बैठी थी। वह समझती थी, मनुष्य के हृदय में जितना प्रेम, जितनी माधुरी, जितनी शोभा, जितना सौंदर्य, जितनी तृष्णा है, सब छान-बीनकर, साफ कर उसने अपने मष्तिष्क के भीतर जमा कर रखी है। मनुष्य- स्वभाव, मनुष्य-चरित्र, उसका नख दर्पण हो गया है। संसार में उसके लिए सीखने योग्य वस्तु और कोई नही है, सबकुछ जान चुकी है, सब कुछ सीख चुकी है।
Rajarshi (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 41,760. Language: Hindi. Published: July 2, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
भुवनेश्वरी मंदिर का पत्थर का घाट गोमती नदी में जाकर मिल गया है। एक दिन ग्रीष्म-काल की सुबह त्रिपुरा के महाराजा गोविन्दमाणिक्य स्नान करने आए हैं, उनके भाई नक्षत्रराय भी साथ हैं। ऐसे समय एक छोटी लडकी अपने छोटे भाई को साथ लेकर उसी घाट पर आई। राजा का वस्त्र खींचते हुए पूछा, "तुम कौन हो?" राजा मुस्कराते हुए बोले, "माँ, मैं तुम्हारी संतान हूँ।" लडकी बोली, "मुझे पूजा के लिए फूल तोड़ दो ना!"
Aankh Ki Kirkiri (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 70,560. Language: Hindi. Published: July 1, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
विनोद की माँ हरिमती महेंद्र की माँ राजलक्ष्मी के पास जा कर धरना देने लगी। दोनों एक ही गाँव की थीं, छुटपन में साथ खेली थीं। राजलक्ष्मी महेंद्र के पीछे पड़ गईं - 'बेटा महेंद्र, इस गरीब की बिटिया का उद्धार करना पड़ेगा। सुना है, लड़की बड़ी सुंदर है, फिर पढ़ी-लिखी भी है। उसकी रुचियाँ भी तुम लोगों जैसी हैं। महेंद्र बोला - 'आजकल के तो सभी लड़के मुझ जैसे ही होते हैं।'
Rangbhumi (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 245,070. Language: Hindi. Published: June 26, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
शहर अमीरों के रहने और क्रय-विक्रय का स्थान है। उसके बाहर की भूमि उनके मनोरंजन और विनोद की जगह है। उसके मध्‍य भाग में उनके लड़कों की पाठशालाएँ और उनके मुकद़मेबाजी के अखाड़े होते हैं, जहाँ न्याय के बहाने गरीबों का गला घोंटा जाता है। शहर के आस-पास गरीबों की बस्तियाँ होती हैं। बनारस में पाँड़ेपुर ऐसी ही बस्ती है।
Prema (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 42,610. Language: Hindi. Published: June 26, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
संध्या का समय है, डूबने वाले सूर्य की सुनहरी किरणें रंगीन शीशो की आड़ से, एक अंग्रेजी ढंग पर सजे हुए कमरे में झॉँक रही हैं जिससे सारा कमरा रंगीन हो रहा है। अंग्रेजी ढ़ंग की मनोहर तसवीरें, जो दीवारों से लटक रहीं है, इस समय रंगीन वस्त्र धारण करके और भी सुंदर मालूम होती है। कमरे के बीचोंबीच एक गोल मेज़ है जिसके चारों तरफ नर्म मखमली गद्दोकी रंगीन कुर्सियॉ बिछी हुई है।
Pratigya (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 27,850. Language: Hindi. Published: June 25, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
देवकी - 'जा कर समझाओ-बुझाओ और क्या करोगे। उनसे कहो, भैया, हमारा डोंगा क्यों मझधार में डुबाए देते हो। तुम घर के लड़के हो। तुमसे हमें ऐसी आशा न थी। देखो कहते क्या हैं।' देवकी - 'आखिर क्यों? कोई हरज है?' देवकी ने इस आपत्ति का महत्व नहीं समझा। बोली - 'यह तो कोई बात नहीं आज अगर कमलाप्रसाद मुसलमान हो जाए, तो क्या हम उसके पास आना-जाना छोड़ देंगे? हमसे जहाँ तक हो सकेगा, हम उसे समझाएँगे ...
Nirmala (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 63,980. Language: Hindi. Published: June 26, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
यों तो बाबू उदयभानुलाल के परिवार में बीसों ही प्राणी थे, कोई ममेरा भाई था, कोई फुफेरा, कोई भांजा था, कोई भतीजा, लेकिन यहां हमें उनसे कोई प्रयोजन नहीं, वह अच्छे वकील थे, लक्ष्मी प्रसन्न थीं और कुटुम्ब के दरिद्र प्राणियों को आश्रय देना उनका कत्तव्य ही था। हमारा सम्बन्ध तो केवल उनकी दोनों कन्याओं से है, जिनमें बड़ी का नाम निर्मला और छोटी का कृष्णा था। अभी कल दोनों साथ-साथ गुड़िया खेलती थीं।
Mansarovar - Part 2 (Hindi)
Series: Mansarovar Part 1-8. Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 102,480. Language: Hindi. Published: September 11, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Nonfiction » Literary criticism » Short Stories, Fiction » Literary collections » Asian / General
मानसरोवर - भाग 2 कुसुम खुदाई फौजदार वेश्या चमत्कार मोटर के छींटे कैदी मिस पद्मा विद्रोही कुत्सा दो बैलों की कथा रियासत का दीवान मुफ्त का यश बासी भात में खुदा का साझा दूध का दाम बालक जीवन का शाप डामुल का कैदी नेउर गृह-नीति कानूनी कुमार लॉटरी जादू नया विवाह शूद्र --------- साल-भर की बात है, एक दिन शाम को हवा खाने जा रहा था कि महाशय नवीन से मुलाक़ात हो गयी। मेरे पुराने दोस्त हैं, बड़े बेतकल्लुफ़ और मन
Karmabhumi (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 129,270. Language: Hindi. Published: June 25, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
हमारे स्कूलों और कॉलेजों में जिस तत्परता से फीस वसूल की जाती है, शायद मालगुजारी भी उतनी सख्ती से नहीं वसूल की जाती। महीने में एक दिन नियत कर दिया जाता है। उस दिन फीस का दाखिला होना अनिवार्य है। या तो फीस दीजिए, या नाम कटवाइए, या जब तक फीस न दाखिल हो, रोज कुछ जुर्माना दीजिए। कहीं-कहीं ऐसा भी नियम है कि उसी दिन फीस दुगुनी कर दी जाती है, और किसी दूसरी तारीख को दुगुनी फीस न दी तो नाम कट जाता है।
Gaban (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 108,000. Language: Hindi. Published: June 25, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
बरसात के दिन हैं, सावन का महीना । आकाश में सुनहरी घटाएँ छाई हुई हैं । रह - रहकर रिमझिम वर्षा होने लगती है । अभी तीसरा पहर है ; पर ऐसा मालूम हों रहा है, शाम हो गयी । आमों के बाग़ में झूला पड़ा हुआ है । लड़कियाँ भी झूल रहीं हैं और उनकी माताएँ भी । दो-चार झूल रहीं हैं, दो चार झुला रही हैं । कोई कजली गाने लगती है, कोई बारहमासा । इस ऋतु में महिलाओं की बाल-स्मृतियाँ भी जाग उठती हैं ।
Alankar (Hindi)
Price: $2.99 $1.50 USD. (50% off until Feb. 28!) Words: 61,460. Language: Hindi. Published: June 27, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
उन दिनों नील नदी के तट पर बहुत से तपस्वी रहा करते थे। दोनों ही किनारों पर कितनी ही झोंपड़ियां थोड़ी थोड़ी दूर पर बनी हुई थीं। तपस्वी लोग इन्हीं में एकान्तवास करते थे और जरूरत पड़ने पर एक दूसरे की सहायता करते थे। इन्हीं झोंपड़ियों के बीच में जहां तहां गिरजे बने हुए थे। परायः सभी गिरजाघरों पर सलीब का आकार दिखाई देता था। धमोर्त्सवों पर साधु सन्त दूर दूर से वहां आ जाते थे।
Aahuti (Hindi)
Price: $0.99 USD. (Free until Feb. 28!) Words: 3,480. Language: Hindi. Published: June 27, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
आनन्द ने गद्देदार कुर्सी पर बैठकर सिगार जलाते हुए कहा-आज विशम्भर ने कैसी हिमाकत की! इम्तहान करीब है और आप आज वालण्टियर बन बैठे। कहीं पकड़ गये, तो इम्तहान से हाथ धोएँगे। मेरा तो खयाल है कि वजीफ़ा भी बन्द हो जाएगा। सामने दूसरे बेंच पर रूपमणि बैठी एक अखबार पढ़ रही थी। उसकी आँखें अखबार की तरफ थीं; पर कान आनन्द की तरफ लगे हुए थे। बोली-यह तो बुरा हुआ। तुमने समझाया नहीं?
11 Vars Ka Samay (Hindi)
Price: $0.99 USD. (Free until Feb. 28!) Words: 5,510. Language: Hindi. Published: June 27, 2014 by Sai ePublications & Sai Shop. Categories: Fiction » Literature » Literary, Fiction » Literary collections » Asian / General
दिन-भर बैठे-बैठे मेरे सिर में पीड़ा उत्‍पन्‍न हुई : मैं अपने स्‍थान से उठा और अपने एक नए एकांतवासी मित्र के यहाँ मैंने जाना विचारा। जाकर मैंने देखा तो वे ध्‍यान-मग्‍न सिर नीचा किए हुए कुछ सोच रहे थे। मुझे देखकर कुछ आश्‍चर्य नहीं हुआ; क्‍योंकि यह कोई नई बात नहीं थी। उन्‍हें थोड़े ही दिन पूरब से इस देश मे आए हुआ है। नगर में उनसे मेरे सिवा और किसी से विशेष जान-पहिचान नहीं है;
Soldier Boys: Tales of the Civil War
Price: $3.00 $1.50 USD. (50% off until Feb. 2!) Words: 57,400. Language: English. Published: April 5, 2016 by Personville Press. Categories: Fiction » Literary collections » American / General, Fiction » Historical » USA
Philosophical author Jack Matthews takes snapshots of Civil War soldiers as they cheat death and mess around between battles. Without dwelling on the war's tragic dimension, these old-fashioned (and historically accurate) yarns are infused with irony and a youthful sense of adventure. They also ask you to ponder the human condition as people of that time might have done.