Fiction » Literature

Sub-categories: Literary | Drama | Coming of age | Visionary & metaphysical | Urban | Western | Fairy tales | War | Alternative history | Biographical | Religious | Sports | All sub-categories >>
Saffron
By
Price: $0.99 USD. Words: 15,850. Language: English. Published: July 4, 2014 by CyberWitch Press. Category: Fiction » Romance » Paranormal
Marion Churchman, code name SAFFRON, is an assassin employed by the vengeance goddess Nemesis. She may have been trained by an elite academy and rubbed elbows with immortals for five years, but it’s not her dream job. Sent on a particularly tough run, Saffron has no idea that she herself is being stalked, and her life is in danger. She’s not as invincible as Nemesis makes her feel.
এলভিস ও অমলাসুন্দরী
By
Price: $0.99 USD. Words: 2,550. Language: Bengali. Published: July 4, 2014 by Bookpocket Publishers. Category: Fiction » Literature » Coming of age
দু’জনেই বুড়ো হয়ে গিয়েছে। জরা গ্রাস করেছে দু’জনকেই । বাড়ীটার পলেস্তারা খসে গেছে জায়গায় জায়গায়। অনেক আগেই ধুয়ে গিয়েছে রঙ। সামান্য যেটুকু আছে তাতেও ভাগ বসিয়েছে আগাছার শিকড়। দোতলার বারান্দা খসে গেছে, খসে গেছে কার্নিশ। তবু দাঁড়িয়ে আছে। বহু প্রাচীন ইতিহাসের মত। রোদ বৃষ্টির দাগ শরীরে নিয়ে।
Two Sister (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 5,650. Language: Hindi. Published: July 3, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary
दोनों बहनें दो साल के बाद एक तीसरे नातेदार के घर मिलीं और खूब रो-धोकर खुश हुईं तो बड़ी बहन रूपकुमारी ने देखा कि छोटी बहन रामदुलारी सिर से पाँव तक गहनों से लदी हुई है, कुछ उसका रंग खुल गया है, स्वभाव में कुछ गरिमा आ गयी है और बातचीत करने में ज्यादा चतुर हो गयी है। कीमती बनारसी साड़ी और बेलदार उन्नावी मखमल के जम्पर ने उसके रूप को और भी चमका दिया-वही रामदुलारी, लडक़पन में सिर के बाल खोले,
Srishti (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 6,140. Language: Hindi. Published: July 3, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary criticism
(अदन की वाटिका, तीसरे पहर का समय। एक बड़ा सांप अपना सिर फूलों की एक क्यारी में छिपाये हुए और अपने शरीर को एक वृक्ष की शाखाओं में लपेटे हुए पड़ा है। वृक्ष भलीभांति च़ चुका है, क्योंकि सृष्टि के दिन हमारे अनुमान से कहीं अधिक बड़े थे। सर्प उस व्यक्ति को नहीं दिखाई दे सकता जिसको उसकी विद्यमानता का ज्ञान नहीं है, क्योंकि उसके हरे और भूरे रंग के मेल से धोखा होता है।
Rahsya (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 5,480. Language: Hindi. Published: July 3, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary
विमल प्रकाश ने सेवाश्रम के द्वार पर पहुँचकर जेब से रूमाल निकाला और बालों पर पड़ी हुई गर्द साफ की, फिर उसी रूमाल से जूतों की गर्द झाड़ी और अन्दर दाखिल हुआ। सुबह को वह रोज टहलने जाता है और लौटती बार सेवाश्रम की देख-भाल भी कर लेता है। वह इस आश्रम का बानी भी है, और संचालक भी। सेवाश्रम का काम शुरू हो गया था। अध्यापिकाएँ लड़कियों को पढ़ा रही थीं, माली फूलों की क्यारियों में पानी दे रहा था
Namak ka Droga (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 3,290. Language: Hindi. Published: July 3, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary
जब नमक का नया विभाग बना और ईश्वरप्रदत्त वस्तु के व्यवहार करने का निषेध हो गया तो लोग चोरी-छिपे इसका व्यापार करने लगे। अनेक प्रकार के छल-प्रपंचों का सूत्रपात हुआ, कोई घूस से काम निकालता था, कोई चालाकी से। अधिकारियों के पौ-बारह थे। पटवारीगिरी का सर्वसम्मानित पद छोड-छोडकर लोग इस विभाग की बरकंदाजी करते थे। इसके दारोगा पद के लिए तो वकीलों का भी जी ललचाता था।
Meri Pahli Rachna (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 1,990. Language: Hindi. Published: July 3, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary
उस वक्त मेरी उम्र कोई १३ साल की रही होगी। हिन्दी बिल्कुल न जानता था। उर्दू के उपन्यास पढ़ने-लिखने का उन्माद था। मौलाना शरर, पं० रतननाथ सरशार, मिर्जा रुसवा, मौलवी मुहम्मद अली हरदोई निवासी, उस वक्त के सर्वप्रिय उपन्यासकार थे। इनकी रचनाएँ जहाँ मिल जाती थीं, स्कूल की याद भूल जाती थी और पुस्तक समाप्त करके ही दम लेता था। उस जमाने में रेनाल्ड के उपन्यासों की धूम थी। उर्दू में उनके अनुवाद धड़ाधड़ निकल रहे
Manovratti Aur Lanchan (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 6,260. Language: Hindi. Published: July 3, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary
मनोवृत्ति एक सुंदर युवती, प्रात:काल, गाँधी-पार्क में बिल्लौर के बेंच पर गहरी नींद में सोयी पायी जाय, यह चौंका देनेवाली बात है। सुंदरियाँ पार्कों में हवा खाने आती हैं, हँसती हैं, दौड़ती हैं, फूल-पौधों से खेलती हैं, किसी का इधर ध्यान नहीं जाता; लेकिन कोई युवती रविश के किनारे वाले बेंच पर बेखबर सोये, यह बिलकुल गैर मामूली बात है, अपनी ओर बल-पूर्वक आकर्षित करने वाली। रविश पर कितने आदमी चहलकदमी कर रहे
Retribution
By
Price: Free! Words: 14,380. Language: American English. Published: July 3, 2014. Category: Fiction » Literature » Drama
A novelette. Paul’s daughter is taken when he leaves her alone for a few minutes at the park. He thinks he saw the man who took her, but not everybody believes his story. Ten years later Paul crosses paths with this man again, and he plans his retribution.
Gulabi
By
Price: $2.90 USD. Words: 13,470. Language: English (Indian dialect). Published: July 3, 2014. Category: Fiction » Literature » Coming of age
The fictitious storyline revolving around two characters Monty (the psychotic part) and Virginia (the non psychotic part). The boundary between the two is permeable. Monty conjures up ‘Gulabi’, following his abrupt separation from his long time partner, while Virginia, having suffered from a personal loss sets out to follow her lifelong aspiration to travel the world.
Speaking of Angels
By
Price: $2.99 USD. Words: 5,730. Language: English. Published: July 2, 2014 by DIB Books. Category: Fiction » Literature » Literary
A lonely afternoon stroll brings on many things. Remembrance. Decay. Memory slipped loose. And—in the case of a graveyard—mortality. A story which examines our lives, and those of the departed. Speaking of Angels: A Short Story.
Fighting The Impossible
By
Price: $0.99 USD. Words: 11,020. Language: English. Published: July 2, 2014. Category: Fiction » Literature » Drama
Follow Tara's path while she experiences extreme happiness, and struggles with grief. Find the power, hidden in each of us. Read the story of finding the road back to life, fighting the impossible.
Huntsman Returned
By
Price: Free! Words: 9,540. Language: English. Published: July 1, 2014. Category: Fiction » Science fiction » Short stories
(3.00 from 1 review)
Their ship crashed on a primitive planet inhabited by giant predatory cats and prehistoric hominids. The only ones who survived were housed in a portion of the ship that was built more securely: the nursery.
Blue Fish
By
Price: $5.99 USD. Words: 16,320. Language: English (Indian dialect). Published: July 1, 2014. Category: Fiction » Literature » War
The story revolves around the era of 1971 war between India and Pakistan. Eventually, the story makes a fold when Mr. Sharma the Commanding officer of the Indian submarine 'S21' with 40 crew, takes a call of attacking the Pakistan submarine 'Ghazi' without letting the higher officials at the Indian Navy HQ know about it. This underwater saga with its own twist and tale leads to a high voltage war.
Shine Your Eye
By
Price: Free! Words: 9,480. Language: English. Published: June 30, 2014. Category: Fiction » Drama » African
Seni's older brother, Dele meets an attractive young woman on campus. Her name is Veronica. As Seni becomes acquainted with more details of Veronica, she believes that this woman is not who Dele thinks she is. Will her stubborn brother take his sister's advice or learn the hard way that a woman's intuition is often right?
These Setting Suns
By
Price: Free! Words: 10,620. Language: English. Published: June 29, 2014. Category: Fiction » Literature » Biographical
This short story is a telling of a few important days in the ordinary life of Ann Marie Jensen, a woman who lived during both World Wars and the Great Depression. Her few days include falling in love, starting a family, and losing loved ones. Her life is ordinary, yes, but that just means anyone can relate.
Mangal Sutra (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 15,200. Language: Hindi. Published: June 28, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary criticism
प्रेमचन्द का जन्म ३१ जुलाई सन् १८८० को बनारस शहर से चार मील दूर समही गाँव में हुआ था। आपके पिता का नाम अजायब राय था। वह डाकखाने में मामूली नौकर के तौर पर काम करते थे। आपके पिता ने केवल १५ साल की आयू में आपका विवाह करा दिया। विवाह के एक साल बाद ही पिताजी का देहान्त हो गया। अपनी गरीबी से लड़ते हुए प्रेमचन्द ने अपनी पढ़ाई मैट्रिक तक पहुंचाई। जीवन के आरंभ में आप अपने गाँव से दूर बनारस पढ़ने के लिए
Kafan (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 3,070. Language: Hindi. Published: June 28, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary criticism
झोपड़े के द्वार पर बाप और बेटा दोनों एक बुझे हुए अलाव के सामने चुपचाप बैठे हुए हैं और अन्दर बेटे की जवान बीबी बुधिया प्रसव-वेदना में पछाड़ खा रही थी। रह-रहकर उसके मुँह से ऐसी दिल हिला देने वाली आवाज़ निकलती थी, कि दोनों कलेजा थाम लेते थे। जाड़ों की रात थी, प्रकृति सन्नाटे में डूबी हुई, सारा गाँव अन्धकार में लय हो गया था। घीसू ने कहा-मालूम होता है, बचेगी नहीं। सारा दिन दौड़ते हो गया, जा देख तो आ।
Holi Ka Uphar (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 2,150. Language: Hindi. Published: June 28, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary criticism
मैकूलाल अमरकान्त के घर शतरंज खेलने आये, तो देखा, वह कहीं बाहर जाने की तैयारी कर रहे हैं। पूछा-कहीं बाहर की तैयारी कर रहे हो क्या भाई? फुरसत हो, तो आओ, आज दो-चार बाजियाँ हो जाएँ। अमरकान्त ने सन्दूक में आईना-कंघी रखते हुए कहा-नहीं भाई, आज तो बिलकुल फुरसत नहीं है। कल जरा ससुराल जा रहा हूँ। सामान-आमान ठीक कर रहा हूँ। मैकू-तो आज ही से क्या तैयारी करने लगे? चार कदम तो हैं। शायद पहली बार जा रहे हो?
Grah Niti Aur Naya Vivah (Hindi)
By
Price: $0.99 USD. Words: 9,820. Language: Hindi. Published: June 28, 2014 by Sai ePublications. Category: Fiction » Literature » Literary criticism
गृह-नीति जब माँ, बेटे से बहू की शिकायतों का दफ्तर खोल देती है और यह सिलसिला किसी तरह खत्म होते नजर नहीं आता, तो बेटा उकता जाता है और दिन-भर की थकान के कारण कुछ झुँझलाकर माँ से कहता है, 'तो आखिर तुम मुझसे क्या करने को कहती हो अम्माँ ? मेरा काम स्त्री को शिक्षा देना तो नहीं है। यह तो तुम्हारा काम है ! तुम उसे डाँटो, मारो,जो सजा चाहे दो। मेरे लिए इससे ज्यादा खुशी की और क्या बात हो सकती है...