Welcome to Smashwords!

Check out our new interface for discovering great ebooks! Read the official announcement at the Smashwords Blog.

Please confirm your erotica preferences.

Learn more about erotica controls. You may change these settings at any time.

[Close]

Fiction » Literature » Plays & Screenplays

Isiziba Nedwala Elibushelelezi
Price: Free! Words: 10,280. Language: Zulu. Published: August 1, 2018. Categories: Fiction » Cultural & ethnic themes » Cultural interest, general, Fiction » Literature » Plays & Screenplays
“Isiziba Nedwala Elibushelelezi” wumdlalo olanda kabanzi ngokuthi iNkosi yesizwe samaZulu uDingane yambulala kanjani umfowabo uMhlangana ukuze ithole isihlalo sobukhosi. Kubalulekile ukuba umlando wesizwe udluliselwe ezizukulwaneni ngezizukulwane. Lo mdlalo uthinta izigameko ababhali abaningi abangazinakanga kanye nabantu ababa neqhaza ekubumbeni umlando wesizwe.
दिल की कलम से
Price: $1.00 USD. Words: 11,250. Language: Hindi. Published: June 21, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
छः महिने की नन्ही सी गुड़िया को अपनी गोद मे उठाए रोहित सबसे मिल रहा था। जाॅब के कारण अपने शहर कम ही आना होता था। इस बार एक शादी मे शामिल हुआ तो सबसे मिलना हो गया। कहते हैं पिता और बेटी का रिश्ता सबसे अनूठा होता है। रोहित भी नन्ही ट्विषा को जान से ज्यादा चाहता था। उसे किसी को भी गोद में लेने नही देता। बड़ी मुश्किल से ऑफिस से छुट्टी मिली थी, रोहित इन खूबसूरत लम्हों का एक भी पल गवाँना नही चाहता था। पित
फिट्'टे मूंह तुंदा (डोगरी काह्'नी ते लेख संग्रैह्)
Price: $1.00 USD. Words: 7,310. Language: Hindi. Published: June 10, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
फिट्'टे मूंह तुंदा (निक्की काह्'नीं) रतन डोगरी ते डोगरी दे कलमकारें दे भविक्ख दे बारे च डूंह्'गा सोचे करदा हा। ओह् सोचै करदा हा जे फकीरे दे कनवीनर बनदे गै कलमकारें कियां उस्सी सिरै उप्पर चुकी लैता ऐ? हर पुस्तक विमोचन उप्पर फकीरे गी गै प्रधानता दित्ती जा करदी ऐ? रत्न गी बिंद भी समझ निं ही आवै करदी जे फकीरा रातो-रात इन्ना अक्लमंद कियां होई गया ऐ, जां ए सारा कमाल डोगरी साहित्य अकादमी दिल्ली
कटघरे में राम
Price: $2.00 USD. Words: 17,230. Language: Hindi. Published: June 2, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
ललित कुमार मिश्र साहित्यिक उपनाम विदेह निर्मोही, सोनीललित, प्रकृति नवरंग 9868429241 sonylalit@gmail.com जन्मस्थान: बिहार जन्मतिथि: 16 मार्च 1976 शिक्षा: स्नातक, राजधानी कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय विधाएं: कविता, लघुकथा ललित कुमार मिश्र साहित्यिक उपनाम विदेह निर्मोही, सोनीललित, प्रकृति नवरंग 9868429241 sonylalit@gmail.com जन्मस्थान: बिहार जन्मतिथि: 16 मार्च 1976 शिक्षा: स्नातक, राजधान
प्यार के फूल
Price: $1.00 USD. Words: 16,130. Language: Hindi. Published: May 30, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
मेरे प्रिय पाठकों का, जिनका दुलार और सहयोग हमेशा मेरे साथ है। माँ शारदे का, जिनकी कृपा दृष्टि मुझ पर हमेशा बनी रहती है। वर्जिन साहित्यपीठ का, मेरे कहानी संग्रह को प्रकाशित करने के लिए। ईश्वर की असीम अनुकम्पा से मेरा पहला कहानी संग्रह आपके समक्ष प्रस्तुत है। भूलबश हुई गलतियों हेतु क्षमा प्रार्थी, एवं आपके सुझावों हेतु प्रतीक्षारत। आप हमें अपने सुझाव 9719469899 पर दे सकते हैं। कहानी संग्रह का लुत्फ़
कहानी मञ्जूषा (कहानी संकलन)
Price: $2.00 USD. Words: 26,360. Language: Hindi. Published: May 28, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
मित्रों, कहानी मंजूषा का ये अंक आप सब के समक्ष प्रस्तुत है। कहानी सच को झूठ में लपेटकर कहने की कला होती है। अभिव्यक्ति के माध्यमों में सबसे सशक्त कहानी दादी, नानी के किस्सों के रूप में हमारे पास पहले से विद्यमान थी। हमारी सभ्यता में कहानियों का इतिहास उतना ही पुराना है, जितनी पुरानी हमारी सभ्यता है। हॉलीवुड के लोग कहते हैं कि इस वक्त संसार में उपलब्ध सभी कहानियों में महाभारत सर्वश्रेष्ठ कथा है। कह
स्कूल का दादा (मनोरंजक व शिक्षाप्रद बालकथाएँ)
Price: $2.00 USD. Words: 5,330. Language: Hindi. Published: May 24, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
इसी पुस्तक से.... “नहीं पिताजी, आज से मेरा जन्मदिन केक से नहीं; बल्कि इन नन्हें पौधों के रोपने से मनेगा।” “बच्चों! मुझे व इस देश को तुम पर गर्व है। निश्चय ही अपने विद्यालय की भांति ही देश के वातावरण को भी हरा-भरा बनाने में सफल होगे।” “कभी-कभी प्रार्थना के बाद भारत माता की जय की आवाज सुनकर वह भी अपना हाथ ऊपर कर देता। पर उसकी आवाज सुनायी नहीं पड़ती। वह बोल नहीं पाता था; लेकिन उसकी आंखों में पढ़ने और
सबसे अच्छा पिता
Price: $1.00 USD. Words: 2,340. Language: Hindi. Published: May 23, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
दोस्तो, मै, आलोक फोगाट आपके सामने एक मार्मिक कहानी लेकर उपस्थित हुआ हूँ, माँ-बाप कैसे पेट काटकर अपने बच्चों को पढाते हैं फिर समस्या आती है उनका भविष्य बनाने की| उच्च शिक्षा का खर्चा सुनकर तो उनके रोंगटे खड़े हो जाते हैं,कैसे पैसों का इंतजाम होता है, उनकी जिन्दगी में एक अजनबी का भगवान बनकर आना| यही इस कहानी का आकर्षण है| दोस्तो, मै, आलोक फोगाट आपके सामने एक मार्मिक कहानी लेकर उपस्थित हुआ हूँ, माँ-
आप मैं और शैडो
Price: $1.00 USD. Words: 6,710. Language: Hindi. Published: May 22, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
हर आदमी कई बार स्वयं से बातें करता है और उन सारी गतिविधयों, योजनाओं, परेशानियों आदि का हल इन्ही क्रम में खोज निकलता है। यह कोई गंभीर बात नहीं बल्कि, साधारण सी बात है जिसे हम आत्ममंथन, आत्मनिर्देश अथवा आत्मसंवेदना के रूप में देखते हैं। देखा भी गया है कि जब किसी व्यक्ति की समस्या का कोई समाधान नहीं मिल पा रहा होता है, तब आत्मचेतना उस जवाब को ढूँढ लाती है। हर आदमी कई बार स्वयं से बातें करता है और उन
घमंडी सियार व अन्य कहानियाँ (बालकथा संग्रह)
Price: $1.00 USD. Words: 14,980. Language: Hindi. Published: May 14, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
खुशियां जब मिलती हैं, तो मन को लुभाती है। ये हरेक चीज से मिल सकती है। किसी से मिलने पर खुशी मिलती है। कभी सम्मान मिलने पर हम इसे प्राप्त करते हैं। कभी पुस्तक छपने पर मन प्रफुल्लित हो जाता है। कभी कोई रिश्ता बन जाता है तो मन खुशियों से भर जाता है। ये सब खुशियां प्राप्ति करने के रास्ते हैं। जो जानेअनजाने हमें प्राप्त होते हैं। बहुत अच्छा लगता है जब अच्छे-अच्छे काम होते हैं। अच्छेअच्छे लोग मिलते हैं
अपनी-अपनी व्यथा (लघुकथा संग्रह)
Price: $1.00 USD. Words: 14,360. Language: Hindi. Published: May 12, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
खुशियां जब मिलती हैं तो मन को लुभाती है। ये हरेक चीज से मिल सकती है। किसी से मिलने पर खुशी मिलती है। कभी सम्मान मिलने पर हम इसे प्राप्त करते हैं। कभी पुस्तक छपने पर मन प्रफुल्लित हो जाता है। कभी कोई रिश्ता बन जाए तो मन खुशियों से भर जाता है। ये सब खुशियां प्राप्ति के रास्ते हैं। जो जाने-अनजाने हमें प्राप्त होते हैं। बहुत अच्छा लगता है जब अच्छेअच्छे काम होते हैं। अच्छे-अच्छे लोग मिलते हैं। उन से ह
गुदगुदाते पल (कहानी संग्रह)
Price: $1.00 USD. Words: 8,510. Language: Hindi. Published: May 11, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
छोटी-छोटी बातें कहने का शौक है मुझे। ‘समिश्रा’ के नाम से गद्य-पद्य, दोनों विधा में लिखती हूँ। आत्म मुग्धता? नहीं आत्म प्रवंचना? नहीं फिर क्या बात है मुझमें बस एक प्यारा सा दिल मेरा और हंसी की सौगात है मुझमें दुनिया में होंगे सुखनवर बहुत अच्छे से भी अच्छे, पर बात जो मेरी वह किसी में भी नहीं छोटी-छोटी बातें कहने का शौक है मुझे। ‘समिश्रा’ के नाम से गद्य-पद्य, दोनों विधा में लिखती हूँ। आत्म मुग
भकोल (कहानी)
Price: $1.00 USD. Words: 20,000. Language: Hindi. Published: May 9, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
"भकोल" की पत्नी "सौम्या" को नेताइन बनने का शौक चर्राया था। जो नेपाल से सटे नवका गांव की रहने वाली है । समाजिक रूप से पिछड़ी जाति " रेड़ा " की बेटी सौम्या की शादी एक दूसरे समाजिक रूप से पिछड़ी जाति " बहेड़ा " के युवा भकोल से, हो तो गई थी, लेकिन दोनों में कोई जोड़ नही था। "सौम्या" गोरी, पतली, लंबी और मैट्रिक पास जबकि "भकोल" काला, मोटा, नाटा और अंगूठा छाप। क़िस्मत की मारी सौम्या बेचारी के सपने सारे
गुलदस्ता
Price: $1.00 USD. Words: 14,990. Language: Hindi. Published: May 8, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
अपनी बात खुशियां जब मिलती हैं तो मन को लुभाती है। ये हरेक चीज से मिल सकती है। किसी से मिलने पर खुशी मिलती है। कभी सम्मान मिलने पर हम इसे प्राप्त करते हैं। कभी पुस्तक छपने पर मन प्रफुल्लित हो जाता है। कभी कोई रिश्ता बन जाए तो मन खुशियों से भर जाता है। ये सब खुशियां प्राप्ति के रास्ते हैं। जो जाने-अनजाने हमें प्राप्त होते हैं। बहुत अच्छा लगता है जब अच्छेअच्छे काम होते हैं। अच्छे-अच्छे लोग मिलते है
மௌனத்தின் சாரல்கள் - ஹைக்கூ கவிதைகள்
Price: Free! Words: 960. Language: Tamil. Published: February 3, 2018. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays, Fiction » Literature » Literary
Mounathin Saralgal - Haiku Kavithaigal வணக்கம்! பல ஆண்டுகளாக இணையதளத்திலும், பேஸ்புக் பக்கத்திலும் நான் எழுதிய காதல் கவிதைகளின் தொகுப்புதான் இந்த நூல். என்னை எழுத தூண்டிய இறைவனுக்கும், அவனது படைப்புகளுக்கும் நன்றி.
Comigo ninguém pode
You set the price! Words: 15,870. Language: Portuguese. Published: November 9, 2017. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays, Fiction » Literature » Literary
"Comigo ninguém pode" - é uma peça de teatro que narra vários acontecimentos com ações dinâmicas e cômicas. São momentos tragicômicos de extrema rapidez. Sínteses de tempo, forma, movimento, em que a história, o ritmo leva a respostas inesperadas. Múltiplos atores, ações implicadas umas com as outras, sobrepostas em constante movimento.
Iara do vestido preto
Price: $1.99 USD. Words: 3,330. Language: Portuguese. Published: November 8, 2017. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays
Iara do vestido preto. História psicológica de amor vivido, drama do amor desejado que se representa nas roupas que lava. Como se limpasse qualquer sofrimento, qualquer engano ou tristeza, em busca de alegria, as roupas saem de sua cesta que está em sua cabeça. Como uma lavadeira que vai ao rio, ela limpa a si mesma, cuida de si e do amor.
Connecting Sam
Price: $2.60 USD. Words: 45,320. Language: British English. Published: October 18, 2017. Categories: Fiction » Science fiction » High tech, Fiction » Literature » Plays & Screenplays
Synopsis - Who rules us? It was Dr. Robert Oppenheimer who famously warned that "The power of Mind Control, makes the atomic bomb seem TRIVIAL."
Topple
Price: $1.99 USD. Words: 1,340. Language: English. Published: September 10, 2017. Categories: Fiction » Literature » Plays & Screenplays, Screenplays » Drama
(4.00 from 1 review)
A mans Journey to understanding love lost and then found again, giving all he has to keep it.
Celeste
Price: $1.99 USD. Words: 7,410. Language: Portuguese. Published: September 10, 2017. Categories: Screenplays » Comedy, Fiction » Literature » Plays & Screenplays
Celeste - monólogo de muitas maneiras. Criação da ventura humana. Acontecimento e experiência performática para atrizes, atores, artistas. Conta as vicissitudes de um homem que carrega a mala de sua viagem existencial, leva consigo o peso de sua fortuna e, como um rico mendigo afronta-se publicamente ao se descobrir entidade e criatura.

Related Categories