Books tagged: vijay tanha

These results show books which have been specifically tagged with this keyword. You can also try doing a general search for the term "vijay tanha" .
You can also limit results to books that contain two tags.
Some content may be filtered out. To view such content, change your filtering option.

Found 1 result

अन्तर्द्वन्द्व
Price: $1.00 USD. Words: 4,930. Language: Hindi. Published: June 13, 2018. Categories: Fiction » Poetry » Contemporary Poetry
साहित्य समाज को आईना दिखाता है और आईना कभी झूठ नहीं बोलता है। समाज की संरचना हमने और आपने ही की है, आदरणीय विजय तन्हा जी की रचनाएं पढ़ी और विवश हो गया सोचने को। वर्तमान परिप्रेक्ष्य एवं विसंगतियों का मार्मिक शब्द चित्र है विजय तन्हा का काव्य संग्रह "अन्तर्द्वन्द्व" जिसमें "अहसास", "पेट की आग", "अपनापन", "एक सच" आदि रचनाओं में हृदय को स्पर्श कर झकझोर देने की क्षमता है। "पैगाम" शीर्षक की रचना