Durgadas (Hindi)

जोधपुर के महाराज जसवन्तसिंह की सेना में आशकरण नाम के एक राजपूत सेनापति थे, बड़े सच्चे, वीर, शीलवान् और परमार्थी। उनकी बहादुरी की इतनी धाक थी, कि दुश्मन उनके नाम से कांपते थे। दोनों दयावान् ऐसे थे कि मारवाड़ में कोई अनाथ न था।, जो उनके दरबार से निराश लौटे। जसवन्तसिंह भी उनका :बड़ा आदर-सत्कार करते थे। वीर दुर्गादास उन्हीं के लड़के थे। छोटे का नाम जसकरण था। More

Available ebook formats: epub

Price: $1.99
$0.99 USD
Buy with coupon Use the code NU83K at checkout for 50% off
(Offer good through Feb. 28, 2020 ) Add to Library Give as a Gift

Also by This Author

Also by This Publisher

Reviews

This book has not yet been reviewed.
Report this book