Maharana Pratap

महाराणा प्रताप के पुर्वज भी बहादूरी और शौर्य मे कम न थे | मातृभूमी के लिए कुर्बान होने के लिए हमेशा तैयार रहते थे |
महाराणा के पुर्वजो के बारे मे लिखा जाए तो सबसे पहला नाम आता है बप्पा रावल का | गहलोत वंश के प्रथम शासक थे वे | अन्होने मेवाड की स्थापना की और इस प्रकार मेवाड के प्रथम शासक भी बने | बप्पा रावल के पश्चात मेवाड मे अनेक शासको ने शासन किया More

Available ebook formats: epub

Words: 7,040
Language: Hindi
About OnlineGatha

Publish Free Ebooks, Self Publisher,Publish your book, build a reader base and sell more copies. Available in both print and eBook formats in major online stores.Publish Fiction, Non-Fiction, Academic and Poetry books in English & Hindi.Download Free ebooks, buy online Book

Also by This Author

Reviews

This book has not yet been reviewed.
Report this book