आप्तवाणी-१४(भाग -१)

प्रस्तुत पुस्तक में आत्मा के गुणधर्म का स्पष्टिकरण किया गया हैं | पुस्तक को दो भागों में विभाजित किया गया हैं | इसपहले भाग में ब्रम्हाण्ड के छ: अविनाशीतत्वों का वर्णन, विशेषभाव (मैं)और अहंकार की उत्पति के कारणों का खुलासा किया हैं | More
Download: epub

Also by दादा भगवान

Explore This Book's Contribitor:

Deepakbhai Desai (editor)

Also by This Publisher

Reviews

This book has not yet been reviewed.
Report this book