इत्तिफ़ाक

एक युवा महिला और उसके छोटे ऊम्र के नौकर की कहानी जो न सिर्फ हमे झकझोरता है बल्कि सोचने पर मजबूर करता है कि क्‍या हम अनजाने में ही सही उनके खिलाफ अपराधी नहीं हैं जिन्‍हें हम अपनी सुविधा के लिये रखते हैं ? More

Available ebook formats: epub mobi pdf lrf pdb txt html

First 20% Sample: epub mobi (Kindle) lrf more Online Reader
About Anand Tripathy. Tripathy.

अभी मन नहीं है कुछ बताने का कल मिलते है।

Report this book